सेवानिवृति पर पीसीजे ने डीआईजी जम्मू सम्मानित

जम्मू कठुआ रेंज के डिप्टी इंस्पेक्टर जनरल ऑफ़ पुलिस शकील अहमद बैग के सेवानिवृत होने पर जम्मू प्रेस क्लब में एक कार्यक्रम का आयोजन किया गया, इस मौके पर डीआईजी शकील बैग को स्मिृति चिंन्ह भेंट किया गया। कार्यक्रंम में प्रिंट और इलेक्ट्रॉनिक से जुड़े कई पत्रकार और पुलिस अधिकारी भी शामिल रहे।

"मैंने अपने तीन दशको से अधिक के अपने पुलिस कैरियर में लगभग सभी वीरता और उत्कृश्ट सेवा मेडल हासिल किये है, लेकिन जिस प्रेम भाव से प्रेस क्लब ने मुझे यहा सम्मानित किया है वो मेरे लिए सब से बड़ा तौफा है" - कुछ इन शब्दों के साथ अपने भाषण की शुरुआत करने वाले डीआईजी शकील बैग ने आगे कहा कि पुलिसकर्मियों की तरह पत्रकार भी हर मोर्चे पर आगे रहते है।

पत्रकारों को सलाह देते हुए डीआईजी ने कहा की आतंकी वारदात के दौरान पत्रकारों को अपनी सुरक्षा को लेकर स्वयं सजग रहना होगा। इस मौके पर शकील बैग ने अपने कार्यकाल में अपने कई अनुभवों को साँझा किया।

उन्होंने अपने पुलिस के कार्यकाल अपने सभी अच्छे बुरे अनुभवों को साँझा किया। जम्मू के पत्रकारों का शुक्रिया अदा करते हुए शकील बैग ने कहा कि अपराधिक गतिविधियों पर अंकुश लगाया गया है और पत्रकारों द्वारा दी गयी कई सूचनाओ के आधार पर कार्यवाही करते हुए असामाजिक तत्वों पर नकेल कसी गयी है।

इस मौके पर प्रेस क्लब के प्रधान अश्विनी कुमार ने डीआईजी शकील बैग के कार्यकाल की प्रसंशा करते हुए कहा कि उन्होंने पुलिस और मीडिया के बीच बेहतर रिश्ते बनाने में अहम भूमिका रही है। जम्मू के चिनोर में वर्ष 2008 में हुए आतंकी हमले में शकील बैग की बहादुरी और कार्यशैली की तारीफ करते हुए अश्विनी ने कहा कि शकील बैग की दूरदर्शिता का ही नतीजा था कि उन आतंकियों को शहर में आने से रोक दिया गया था।

प्रेस क्लब के महासचिव ज़ोरावर सिंह जामवाल ने इस मौके पर शकील बैग को ईमानदार पुलिस अधिकारी बताते हुए उनके बेहतर भविष्य की कामना की। उन्होंने कहा कि देश भर में जिस तरह से पुलिस और पत्रकारो में खींचतान का माहौल रहता है, जम्मू कश्मीर इससे अलग नहीं है। लेकिन शकील बैग जैसे अधिकारयो ने राज्य में मीडिया और पुलिस के बीच एक पुल का काम किया है।

हाल ही में जम्मू के कठुआ और साम्बा में हुए आतंकी हमलो का हवाला देते हुए ज़ोरावर ने कहा कि उन हमलो को रोकने में जैसे पुलिस ने अपनी भूमिका निभायी उसी तरह मीडिया ने भी उन हमलो को कवर किया, लेकिन शकील बैग ने पुलिस के साथ साथ पत्रकारों की भी सुरक्षा को सुनिश्चित किया।

इस मौके पर वरिष्ठ पत्रकार राजू केरनी, हरबंस नगोके और अजय बाचलू ने भी अपने विचार रखे और डीआईजी को सेवानिवृति पर शुभकामनाए दी।

वहीँ इससे पूर्व डीआईजी को दिनेश महाजन ने फूलो का गुदास्ता भेंट कर सम्मानित किया। स्वागती भाषण अमन शर्मा जबकि धन्यवाद प्रस्ताव दीपक खजुरिया ने पढ़ा। इस मौके पर जम्मू के स्थानीय हिंदी, उर्दू और अंग्रेज़ी साप्ताहिक समाचार पत्रो के संपादक भी शामिल थे।

 
Top
 

You can call

Office Secretary : 0191-2560783
Reception : 0191-2576077
Accounts : 0191-2540397

 


You can email us on
pressclubofjammu@gmail.com


© Press Club of Jammu 2015